राजस्थान में काँग्रेस को चुनाव हरवा सकता है सचिन पायलट का ब्राह्मण विरोध ?

0
26

राजस्थान,मध्य प्रदेश,छत्तीसगढ़, लेलंगाना सहित 4 राज्यों में विधानसभा चुनाव चरम पर है।

तमाम राजनीतिक दल अपनी जीत के लिए जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं, नब्बे के दशक में कांग्रेस के सबसे कद्दावर राष्ट्रीय नेता के रूप में उभरे राजेश पायलट ने राजस्थान के भरतपुर और फिर लगातार दौसा से चुनाव लड़ते रहे हैं।

और अब उनके बेटे राजस्थान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट पहले दौसा और फिर अजमेर से संसदीय चुनाव लड़ा है।पहली मर्तबा टोंक सीट से विधानसभा चुनाव लड़ रहे है।

राजेश पायलट अपने जमाने के दौसा से चुनाव लड़ने वाले दिग्गज ब्राह्मण नेता पंडित नवल किशोर शर्मा की राजनीति को अपने राजनीतिक चातुर्य के बल पर हाशिये पर खिसका दिया था।

और अब उनके बेटे सचिन पायलट गहलोत सरकार में शिक्षा मंत्री रहे पंडित नवल किशोर शर्मा का हवा महल सीट से किनारे कर किसी और पर दांव लगाया है।

जानकारों का कहना है,कि पायलट के इस रूख से कांग्रेस को सीटों का भारी नुकसान हो सकता है।

क्योंकि पं. नवलकिशोर शर्मा और उनके पुत्र पूर्व मंत्री ब्रज किशोर शर्मा कि ब्राह्मण वोट बैंक पर खासी पकड़ मानी जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here